विश्वास को छोड़कर हर चीज़ मरमत के काबिल है

Shayari on Trust Broken

तोड़ कर जोड़ लो चाहे हर चीज़ इस दुनिया की
विश्वास को छोड़कर हर चीज़ मरमत के काबिल है इस दुनिया की

Tod kar jod lo chahe har cheez is duniya ki
Vishwas ko chhodkar har cheez maramt ke kaabil hai is duniya ki