रिश्ते खून के नहीं विश्वास के होते हैं

Bharosa Shayari

रिश्ते खून के नहीं विश्वास के होते हैं
अगर विश्वास हो तो पराये भी अपने बन जाते हैं
वरना अपने भी पराये हो जाते हैं

Rishte khoon ke nahin vishwas ke hote hain
Agar vishwas ho to paraye bhi apne ban jaate hain
Vrna apne bhi paraye ho jaate hain