शराब से बाहर

Hindi Shayari Yaad

तुम्हारी याद निकलती नहीं मिरे दिल से
नशा छलकता नहीं है शराब से बाहर

Tumhari yaad nikalati nahin mere dil se,
Nasha chhalakta nahin hai sharaab se baahar.