रोज़ पत्थर की

My Attitude Shayari in Hindi for Love

रोज़ पत्थर की हिमायत में ग़ज़ल लिखते हैं
रोज़ शीशों से कोई काम निकल पड़ता है

Roz patthar ki himaayat mein gazal likhate hain
Roz shishon se koi kaam nikal padata hai