उस की याद आई है

ishq shayari

उस की याद आई है साँसो ज़रा आहिस्ता चलो
धड़कनों से भी इबादत में ख़लल पड़ता है

Us ki yaad aai hai saanso zara aahista chalo
Dhadakanon se bhi ibaadat mein khalal padata hai

रंजिश ही सही

Ranjish shayari

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिए आ

Ranjish hi sahi dil hi dukhane ke liye aa
Aa phir se mujhe chhod ke jaane ke liye aa

और भी दुख हैं ज़माने में

sad-shayari-in-hindi

और भी दुख हैं ज़माने में मोहब्बत के सिवा
राहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवा

Aur bhi dukh hain zamaane mein mohabbat ke siva
Raahaten aur bhi hain vasl ki raahat ke siva

उजाले अपनी यादों के

sad-shayari-hindi

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
न जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाए

Ujaale apani yaadon ke hamaare saath rahne do
Na jaane kis gali mein zindagi ki shaam ho jaye