दिया तो जल रहा है

Muskan Shayari in Hindi

हमारी मुस्कुराहट पर न जाना
दिया तो क़ब्र पर भी जल रहा है.

Hmaari muskurahat par na jana
Diya to kabr par bhi jal rha hai.