मोहब्बत और इबादत

Friendship Shayari in Hindi

मोहब्बत और इबादत में फ़र्क़ तो है नाँ
सो छीन ली है तिरी दोस्ती मोहब्बत ने

Mohabbat aur ibaadat mein farq to hai naan
So chhin li hai tiri dosti mohabbat ne