मेरी ख़्वाहिश है

Maa Ke Liye Shayari

मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊँ
माँ से इस तरह लिपट जाऊँ कि बच्चा हो जाऊँ

Meri khwahish hai ki m phir se farishta ho jaun
Maa se is tarah lipat jaun ki bachcha ho jaun