माँ सजदे में

Maa Shayari in Hindi

ये ऐसा क़र्ज़ है जो मैं अदा कर ही नहीं सकता
मैं जब तक घर न लौटूँ मेरी माँ सजदे में रहती है

Ye aisa qarz hai jo main ada kar hi nahin sakta
Main jab tak ghar na lotu meri maa sajde mein rahti hai