लोग डरते हैं

Friendship Shayari

Friendship Shayari

लोग डरते हैं दुश्मनी से तिरी
हम तिरी दोस्ती से डरते हैं

Log darate hain dushmani se tiri
Ham tiri dosti se darate hain

दोस्ती को बुरा

Friendship Day Shayari

Friendship Day Shayari

दोस्ती को बुरा समझते हैं
क्या समझ है वो क्या समझते हैं

Dosti ko bura samajhte hain
Kya samajh hai vo kya samajhte hain

गुज़ारिश है

Dosti Sad Shayari

Dosti Sad Shayari

दोस्तो तुम से गुज़ारिश है यहाँ मत आओ
इस बड़े शहर में तन्हाई भी मर जाती है

Dosto tum se guzaarish hai yahaan mat aao
Is bade shahar mein tanhai bhi mar jaati hai

कोई यार न था

friendship shayari images

Friendship Shayari Images

दोस्ती किस से न थी किस से मुझे प्यार न था
जब बुरे वक़्त पे देखा तो कोई यार न था

Dosti kis se na thei kis se mujhe pyaar na tha
Jab bure waqt pe dekha to koi yaar na tha

इस क़दर

Dosti Shayri

Dosti Shayri

इस क़दर बढ़ने लगे हैं घर से घर के फ़ासले
दोस्तों से शाम के पैदल सफ़र छीने गए

Is qadar badhane lage hain ghar se ghar ke faasale
Doston se shaam ke paidal safar chhine gaye

दिल ही दुखाने

Dosti Sad Shayari

Dosti Sad Shayari

तेरी बातें ही सुनाने आए
दोस्त भी दिल ही दुखाने आए

Teri baaten hi sunaane aaye
Dost bhi dil hi dukhaane aaye

चाहते भी हैं

Dosti Par Shayari

Dosti Par Shayari

चाहते भी हैं चाहते भी नहीं
दोस्ती की नई मिसाल है ये

Chahte bhi hain chahte bhi nahin
Dosti ki nai misaal hai ye

न दोस्त ही समझो

Dosti Ki Shayari

Dosti Ki Shayari

न ग़ैर ही मुझे समझो न दोस्त ही समझो
मिरे लिए ये बहुत है कि आदमी समझो

Na gair hi mujhe samajho n dost hi samajho
Mire lie ye bahut hai ki aadami samajho

क्या रूप दोस्ती का

Dosti Shayri

Dosti Shayri

क्या रूप दोस्ती का क्या रंग दुश्मनी का
कोई नहीं जहाँ में कोई नहीं किसी का

Kya roop dosti ka kya rang dushmani ka
Koi nahin jahaan mein koi nahin kisi ka