जिसके लिए लिखता हूँ मैं पता नहीं वो पढ़ती भी है या नहीं

Emotional Shayari for GF

Emotional Shayari for GF

चुपचाप रहती है वो कुछ कहती भी नहीं है
जिसके लिए लिखता हूँ मैं पता नहीं वो पढ़ती भी है या नहीं?

Chupchap rahti hai vo kuch kahti bhi nahin hai
Jiske liye likhta hun main pta nahin vo padhti bhi hai ya nahin?

Related Posts