दुश्मनी पेड़ पर

Dosti Par Shayari

दुश्मनी पेड़ पर नहीं उगती
ये समर दोस्ती से मिलता है

Dushmani ped par nahin ugati
Ye samar dosti se milata hai