दोनों जहान तेरी मोहब्बत में हार के

sad shayari

दोनों जहान तेरी मोहब्बत में हार के
वो जा रहा है कोई शब-ए-ग़म गुज़ार के

Donon jahaan teri mohabbat mein haar ke
Vo ja raha hai koi shab-e-gam guzaar ke

Related Posts